Thursday, April 8, 2010

पैमान-ए-इश्क में जाम जुदाई का पीना,
उफ़ बड़ा मुश्किल है तुझे भुला कर जीना |

4 comments:

  1. बहुत अच्छा । बहुत सुंदर प्रयास है। जारी रखिये ।


    अगर आप हिंदी साहित्य की दुर्लभ पुस्तकें जैसे उपन्यास, कहानी-संग्रह, कविता-संग्रह, निबंध इत्यादि डाउनलोड करना चाहते है तो कृपया अपनी हिंदी पर पधारें । इसका पता है :

    www.apnihindi.com

    ReplyDelete
  2. जितनी बढ़िया आपकी शायरी है उतनी ही बढ़िया आपकी फोटो :)

    अपने बारे में भी आपने खूब लिखा है, हा हा हा

    ReplyDelete
  3. धन्यवाद केशरी जी , वैसे फोटो गतिमान नहीं है इसलिए अच्छी लगी, वर्ना मेरी गति अच्छाई की कसौटी पर खरी नहीं उतरती |

    ReplyDelete